Xossip

Go Back Xossip > Mirchi> Stories> Hindi > रीमा की दबी कामइच्छा

Reply Free Video Chat with Indian Girls
 
Thread Tools Search this Thread
  #31  
Old 1 Week Ago
Delotee_Neg Delotee_Neg is online now
 
Join Date: 23rd September 2017
Posts: 30
Rep Power: 1 Points: 215
Delotee_Neg is beginning to get noticed
भाग ११ रीमा और रोहित

रोहित रीमा के पीठ सहलाता हुआ- कोई बात नहीं रीमा चुप हो जाओ, मैंने भी नूतन को एक बार दूर से देखा है नूतन एक जवान खूबसूरत लड़की है और मै शर्त लगाता हूँ उसके स्तन बाकि लडकियों से काफी बड़े होंगे |
रीमा -रोहित..........तुम ऐसा कैसे कह सकते हो ?
रोहित- अब जो सच्चाई है उसे कहने में क्या बुराई है |
शराब के नशे में धुत रीमा के शरीर में एक सिहरन सी दौड़ गयी जब उसे अहसास हुआ की पीठ पर से हाथ फेरते फेरते रोहित का एक हाथ उसकी कमर ने नीचे बेहद निजी वर्जित क्षेत्र में जाकर उसके उठे हुए चिकने गोलाकार गोरे मांसल चुतड पर जम गया है और उसके बाद रोहित के हाथ ने चुतड पर दबाव बनाकर रीमा की कमर को अपनी तरफ ठेलने लगा | रीमा ने अपना सर पीछे को हटाया और उसके आंसुओं सी भरी आँखों में एक दहशत सी भर गयी, जब उसे महसूस हुआ की, रोहित के लंड कड़ा होने लगा है, उसके कोमल शरीर को उसका अहसास साफ साफ़ हो रहा था,उससे चिपकी होने की वजह से वो रोहित के पेंट के अन्दर के तनाव को अपनी नाजुक कमर के निचले हिस्से और केले के तने जैसी चिकनी नरम गुदाज जांघो पर महसूस कर रही थी |
रोहित खुद को संयत करता हुआ- कोई बात नहीं रीमा , सब ठीक है मै सब समझता है |
तभी अचानक रीमा को अहसास हुआ की रोहित उसके साथ पिता तुल्य व्यवहार करने की कोशिश कर रहा है, रीमा रोहित से दूर होना चाहिती थी लेकिन रोहित ने अपनी सख्त बांहों से जकड रखा था | तभी रीमा को रोहित की नीयत का अहसास हुआ- छोड़ो मुझे रोहित, मुझे जाने दो प्लीज रोहित, मुझे जाने दो | रीमा भयभीत हो गयी, रोहित ने पहले भी कई बार उससे नजदीकियां बढ़ाने की कोशिश की लेकिन कभी इस हद तक नहीं गया | क्या रोहित को मेरे और प्रियम के बारे में पता चल है, इसलिए अपनी भड़ास निकालने आया है, मेरी असलियत का पता चलने के कारन ही अब ये भी मुझे चोद डालना चाहता है | इसलिए मेरे मना करने के बावजूद रूक नहीं रहा है | अब क्या होगा, क्या रोहित भी अपने बेटे ही तरह मुझे चोद डालेगा, क्या बाप बेटे दोनों के अपने लंड की प्यास मेरे छेदों में ही बुझाना चाहते है........ वो कंफ्यूज हो गयी, उसके दिमाग कुछ ठीक से सोच ही नहीं पा रहा है, वो बहुत परेशान हो गयी, इस हालत में भी उसकी चूत में हल्की सी वासना के उफान की सनसनाहट सी महसूस हो रही थी, इससे वो इंकार नहीं कर सकती थी, हर बीतते पल के साथ ये सनसनाहट बढती जा रही थी, क्योंकि रोहित अपने एक हाथ से रीमा के उठे हुए चिकने गोलाकार गोरे मांसल चुतड लगातार मसल रहा था और रीमा के शरीर को अपने ऊपर ठेल रहा था| रीमा अपनी चिकनी नरम गुदाज जांघो के बीच रोहित के बढ़ते, कठोर होते लंड के तनाव को महसूस कर रही थी |
जैसे ही रोहित ने रीमा के ओठो को कसकर चूम लिया, रीमा के मुहँ से हल्की आह निकल गयी, रोहित सख्ती से रीमा के ओठ चूमने लगा और अपनी जीभ रीमा के मुहँ में डाल दी, एक हाथ से रोहित ने कसकर रीमा को खुद से चिपकाये हुए था जबकि उसका एक हाथ रीमा के भारी गोल मांसल चुतड की लगातार मालिश कर रहा था| रोहित बार बार रीमा की कमर को धक्का लगाकर खुद पर ठेल देता जिससे रोहित का सख्त होकर तन चुके खड़े लंड का उभार रीमा की चिकनी नरम गुदाज जांघो पर पहले से ज्यादा जोर से महसूस होता |
रीमा का दिमाग रोहित को रोकना चाहता था, उसका विरोध करना चाहता था, उसे धकेल कर खुद से दूर करना चाहता था लेकिन उसका दिल उसके साथ नहीं था | पिछले कुछ महीनो से उसके अन्दर जो काम वासना उफान मार रही थी, हर बार की तरह इस बार उसने खुद को रोकने की बिलकुल कोशिश नहीं की | उसकी चेतना का विरोध कमजोर होता जा रहा था | उसे अपनी चूत के अन्दर एक लंड चाहिए था | उसे खून से भरा हुआ, फूला हुआ, गरम, लोहे की राड की सख्त हुए एक तगड़ा लंड अपनी चूत में चहिये था जो उसकी चूत की दीवारों में दहसत पैदा कर दे, अन्दर जाकर चूत का हर कोना चोद दे, जैसे पहले किसी ने उसकी चूत को चोदा न हो | उसे ऐसा लंड अभी चहिये था, भले ही क्यों न वो उसके देवर रोहित का ही हो | उसे अपनी चूत में एक लंड चहिये था और लंड की सबसे ज्यादा जरुरत उसे अभी थी | अपने दिमाग के सारे विरोध, अंतर्विरोध के बाद भी रीमा अपनी जगह से एक इंच भी न हिली, जब रोहित ने उसके कपडे उतारने शुरू कर दिए | रोहित ने उसका टॉप उसके कंधो पर से नीचे खिसका दिया | रीमा ने अब हार मान ली थी, उसने खुद को पूरी तरह से रोहित को सौपने का मन बना लिया था | रोहित ने टॉप को कमर से होते हुए पैरो में गिरा दिया और रीमा की ओठो को जोर से चूम लिया | उसके बाद झुककर टॉप को रीमा के पैरो से निकाल कर अलग फेंक दिया | रीमा के स्तन और चूचिया पूरी तरह नंगी हो गयी थी, रीमा ने ब्रा नहीं पहन रखी थी, इसलिए कंधो से लेकर कमर तक अब वो पूरी तरह से नंगी थी | रीमा ने कुछ ही देर पहले पुरे शरीर की वैक्सिंग और नहाने के बाद शरीर पर तेल लगाया था, जिससे शरीर पर बालों का नामोनिशान नहीं था , जिसके कारन कंधो से लेकर कमर तक उसकी नरम गोरी त्वचा से ढका नाजुक बदन बल्ब की रौशनी में संगमरमर की तरह चमक रहा था | रीमा ने सर झुकाकर अधखुली आँखों से खुद के नंगे खूबसूरत शरीर को देखने लगी | उसके स्तन कठोर होकर समाने की तरफ तने हुए थे, जब उसने अपनी तनी हुई चुचियाँ देखि तो रीमा की सांसे तेज हो गयी | उसकी गरम गरम सांसे मक्खन जैसे मुलायम गोरे गोरे सुडौल स्तनों पर से होती हुई चुचियों पर जाकर लग रही थी | वो बला की खूबसूरत लग रही थी | इतने साल अपनी हवस को कुचलने का एक फायदा भी उसे मिला | उसके स्तन अभी भी किसी कुंवारी लड़की की तरह सुडौल, ठोस और सामने की तरफ तने हुए थे , वरना इस उम्र तक स्तनों में लटकन आ ही जाती है | रोहित ने रीमा के चुतड छोड़ कर अब स्तन मसलने शुरू कर दिए, धीरे धीरे उसकी हथेली और उँगलियों की सख्ती बढती जा रही थी, बीच बीच में रीमा के ओठ चुसना छोड़ चुचियो पर अपने दांत गडा देता, तो रीमा के मुहँ से सीत्कार भरी सिसकारी फूट पड़ती, फिर वह उन्हें छोटे बच्चे की तरह चूसने लगता, फिर वापस जाकर रीमा के ओठो से ओठ सटा देता और अपनी जीभ रीमा के मुहँ में ठेल देता और दोनों के मुहँ की लार एक दुसरे में घुलने मिलने लगी | फिर कभी गर्दन कबी कानो को चूमने लगता | रीमा पूरी तरह से वासना के आगोश में चली गयी थी, उसकी गरम सांसे धौकनी की तरह चलने लगी थी, छाती तेजी से उठने गिरने लगी | यही हाल रोहित का भी हो चूका था, रोहित की सांसे भी तेज हो गयी थी, बदन गरम हो गया था और उसका लंड पेंट के अन्दर ही इतना सख्त हो गया था की सब कुछ फाड़कर बाहर आने को बेताब था |

रोहित ने स्कर्ट का कमरबंद भी खोल दिया जिसने उसके कमर के नीचे का हिस्सा ढक रखा था, जैसे की कमर के नीचे का कपड़ा जमीन में गिरा रीमा ने एक हल्की मादक आह भरी | जब तक रीमा कुछ सोच पाती रोहित ने झटके से उसकी पैंटी भी घुटनों के नीचे तक खिसका दी | रीमा का गोरा सपाट पेट, उसकी गोरी, केले के तने जैसी चिकनी मुलायम मांसल जांघे और जांघो के बीच बना चूत त्रिकोण सब कुछ नुमाया हो गया, बड़े बड़े गोल सुडौल मांसल चुतड | जांघो के बीच बने चूत त्रिकोण में बाल का नामोनिशान नहीं था, उसने जांघ के बीच चूत के इलाके का न केवल आज क्लीन सेव किया था, बल्कि उसका स्पेशल मेकअप भी किया था ऐसा लग रहा था कि उसकी चूत पर कभी बाल थे ही नहीं और पूरा इलाका हल्का गुलाबी रंग में चमक रहा था | रोहित को उसके चूत के ओठो का गुलाबी कटाव भी साफ़ नजर आ रहा था | सर से लेकर पांव तक रीमा के शरीर पर अब एक कपड़ा नहीं था, वो बिलकुल प्राकृतिक अवस्था में रोहित के समाने खडी थी, एक दम नंगी, न कोई कपड़ा था न कोई पर्दा था | सब कुछ खुलकर बाहर आ गया था | रोहित तो सीधे जैसे स्वर्ग पंहुच गया हो और कोई अप्सरा बिलकुल नंगी होकर उसके सामने खडी हो, रोहित की आंखे पलक झपकाना भूल गयी , रीमा को नंगी देखकर रोहित के लंड में खून का दौरान दोगुना हो गया, रोहित कुछ देर तक एकटक रीमा की खूबसूरती देखता रहा | शरीर की कसावट देखकर कोई भी रीमा की उम्र १० साल कम ही बताएगा | रोहित हमेशा बस अंदाजा ही लगाता था, उसे भी नहीं पता था रीमा की बनावट इतनी कमाल की है की किसी के भी होश उड़ा दे | रोहित बस ऊपर से नीचे तक रीमा को जी भर के देख ही रहा था | अपनी फंताशी में उसने कई बार रीमा को नंगा किया लेकिन उसे यकीन नहीं था की कभी वो रीमा को पूरा नंगा साक्षत, अपनी आँखों से देख पायेगा | लम्बा गोलकार मुहँ, रस टपकाते पतले ओठ सुराही जैसी पतली गर्दन, छाती पर भरे पुरे सुडौल, सामने की तरफ तने हुए स्तन और उनके शीर्ष पर विराजमान दो चुचियाँ, सपाट पेट और उसके बीच में सुघड़ नाभि,पेट पर फैट का नामोनिशान नहीं, भरी भरी गोलाकार गोरी गोरी गुदाज जांघे, उठे हुए गोलकार मांसल बड़े बड़े चुतड और जांघो के बीच में चमकती त्रिकोण चूत घाटी, किसी को भी पागल कर दे | रोहित पर किस्मत जबरदस्त मेहरबान थी कि पहले से ही बला की खूबसूरत, परफेक्ट शारीरिक बनावट की मालकिन रीमा ने आज ही चूत को क्लीन सेव भी किया और बॉडी हेयर भी क्लीन किये | ऊपर से खूबसूरत बॉडी आयल और मेकअप ने सोने पर सुहागा कर दिया | इससे सामने से देखने वालो को रीमा साक्षत आसमान से उतरी बिना कपड़ो की परी जैसी लग रही थी | रोहित की नजर कभी रीमा के गोलाकार सुडौल गोरे स्तनों पर टिक जाती, तो कभी दो जांघो के बीच बने गोरे मखमल जैसे चिकने और रपटीले गुलाबी चूत के त्रिकोण पर | रोहित को समझ ही नहीं आ रहा था किसको ज्यादा देर तक निहारे | रीमा ने सर झुकाकर एक बार खुद को निहारा और मन ही मन में वासना की मादकता से आनंदित होने लगी | रोहित को अपनी किस्मत पर यकीन नहीं हो रह था, बिना कपड़ो की परतो के क्या ये वही रीमा का जादुई खूबसूरत जिस्म है जिसको वो वर्षो से बिना कपड़ो के देखने की तमन्ना पाले हुए था | इतनी खुसुरत रीमा को चोदने के ख्याल से ही रोहित का रोम रोम खड़ा हो गया , लंड की तरफ खून का दौरान तेज हो गया | आज सालो बाद वो रीमा को चोदने जा रहा है , वो भी वो रीमा जो उसकी कल्पनाऔ से भी कही ज्यादा खूबसूरत है | इतनी खूबसूरत, फूल सी नाजुक रीमा को जब वो चोदेगा तो कितना मजा आएगा, ये सोच के ही उसका लंड और ज्यादा तनता चला गया | रोहित तो रीमा को आंखे फाड़ फाड़ कर देख रहा था | जांघो के बीच में त्रिकोण बनाती, चिकनी गोरी बाल रहित चूत त्रिकोण घाटी, जिसे शायद वो दूसरा आदमी है जो देख रहा था | रोहित तो जैसे स्वर्ग से भी अच्छे लोक की सैर कर रह था और उसके समाने एक नंगी अप्सरा खड़ी होकर उसे अपने अन्दर समां जाने का आमंत्रण दे रही थी | उसकी खूबसूरत कसी हुई चिकनी गुलाबी चूत में समां जाने की | पूरी तरह समा जाने की, अन्दर तक, आखिर छोर तक |

रोहित रीमा के स्तन पर से हाथ हटाकर उसके दोनों चूतडो का जायजा लेने लगा, कमर से नीचे जांघो तक उभरे हुए, कुंवारी लडकियों की तरह सुडौल कसावट लिए हुए, नरम नरम मांसल बड़े बड़े चुतड देख कर वो पागल सा होने लगा |
रोहित ने धीमी आवाज में कहा- क्या हम बाथरूम में चल सकते है?
रीमा ने मौन सहमती में सर हिलाया | वो समझ ही नहीं पा रही थी कि वो कर क्या रही है, पूरी तरह से नंगी रीमा अपने कुल्हे हिलाते हुए हलके कदमो से बाथरूम की तरफ चल दी, उसके अन्दर का प्रतिरोध ख़त्म हो गया था, उसकी सोचने समझने की शक्ति ख़त्म हो गयी थी, वो वही कर रही थी जो रोहित कर रहा था | हर उठते पड़ते कदम के साथ उसके सुडौल मांसल बड़े बड़े गोलाकार नितम्ब बारी बारी से उठ गिर रहे थे | उसके पीछे चला रहा रोहित टकटकी लगाये रीमा को पूरी तरह से हमेशा के लिए अपनी आँखों में समा लेना चाहता था | बलखाती कमर और मटकते कुल्हे और हिलते चुतड देखकर रोहित तो जैसे पलक झपकाना ही भूल गया |

Reply With Quote
Have you seen the announcement yet?
  #32  
Old 1 Week Ago
Delotee_Neg Delotee_Neg is online now
 
Join Date: 23rd September 2017
Posts: 30
Rep Power: 1 Points: 215
Delotee_Neg is beginning to get noticed
Wink रीमा की बाल रहित चिकनी गुलाबी चूत और गोरे स




Reply With Quote
Have you seen the announcement yet?
  #33  
Old 1 Week Ago
jonny khan's Avatar
jonny khan jonny khan is offline
Custom title
 
Join Date: 22nd February 2017
Location: mumbaikar
Posts: 10,565
Rep Power: 18 Points: 10302
jonny khan is one with the universejonny khan is one with the universe
Very hottttt updates bro

Reply With Quote
Have you seen the announcement yet?
  #34  
Old 1 Week Ago
Delotee_Neg Delotee_Neg is online now
 
Join Date: 23rd September 2017
Posts: 30
Rep Power: 1 Points: 215
Delotee_Neg is beginning to get noticed
thanks for your appreciation

Reply With Quote
Have you seen the announcement yet?
  #35  
Old 1 Week Ago
bicky1996 bicky1996 is offline
 
Join Date: 28th February 2017
Posts: 194
Rep Power: 2 Points: 719
bicky1996 has received several accoladesbicky1996 has received several accoladesbicky1996 has received several accolades
Maza aa Gaya bhai
Priyam aur Rima ke bich ke secret affair ke bare mein Rohit ko pata na chale to behtar hoga

Reply With Quote
Have you seen the announcement yet?
  #36  
Old 1 Week Ago
jonny khan's Avatar
jonny khan jonny khan is offline
Custom title
 
Join Date: 22nd February 2017
Location: mumbaikar
Posts: 10,565
Rep Power: 18 Points: 10302
jonny khan is one with the universejonny khan is one with the universe
Waiting next

Reply With Quote
Have you seen the announcement yet?
  #37  
Old 1 Week Ago
brego4's Avatar
brego4 brego4 is offline
http://pzy.be/
Visit my website
 
Join Date: 1st May 2008
Posts: 16,475
Rep Power: 55 Points: 22900
brego4 is one with the universebrego4 is one with the universebrego4 is one with the universebrego4 is one with the universebrego4 is one with the universebrego4 is one with the universebrego4 is one with the universe
superb story update more

Join Date: 23rd September 2017
Posts: 14
Rep Power: 0 Points: 24+25= 49
______________________________
And Miles to go before i Sleep

Reply With Quote
Have you seen the announcement yet?
  #38  
Old 1 Week Ago
Delotee_Neg Delotee_Neg is online now
 
Join Date: 23rd September 2017
Posts: 30
Rep Power: 1 Points: 215
Delotee_Neg is beginning to get noticed
one more update for all of you enjoy

Reply With Quote
Have you seen the announcement yet?
  #39  
Old 1 Week Ago
Delotee_Neg Delotee_Neg is online now
 
Join Date: 23rd September 2017
Posts: 30
Rep Power: 1 Points: 215
Delotee_Neg is beginning to get noticed
भाग १२ रीमा और रोहित

बाथरूम पंहुचते ही रोहित ने कपडे उतारने शुरू कर दिए, आगे क्या होने वाला है ये सोचकर ही रीमा कांप उठी | जैसे ही रोहित ने शर्ट उतारी, उसका बालो से भरा मांसल चौड़ा सीना देखकर रीमा के नितम्बो और कमर में एक सुरसुरी दौड़ गयी | रोहित ने तेजी से अपने जूते उतारे, उसके बाद पेंट और अंडरवियर साथ ही उतार दी | रीमा ने आश्चर्य से रोहित की कमर की तरफ देखा, रोहित का मोटा लम्बा, खून के तेज दौरान से कांपता लंड बिलकुल धमकाने डराने वाले अंदाज में ऊपर की तरफ सीधा होता जा रहा है | रोहित का लंड की मोटाई और लम्बाई देख रीमा की आंखे फटी की फटी रह गयी | रोहित के मोटे लंड का सुपाडा खून के तेज बहाव के कारन फूल गया था और खून के बहाव के कारन होने वाला कम्पन साफ नजर आ रहा था | रोहित ने अपनी कमर को इस तरह लयदार तरीके से घुमाया जैसे लग रहा हो चूत में लंड पेला जा रहा हो जिससे रोहित का लंड उपर नीचे होने लगा | रीमा गौर से रोहित की इस हरकत को देख रही थी |
रोहित लंड की तरफ देखते हुए इस तरह से पेलूगा तुमारी चूत में ये मोटा लंड |
रीमा ने अपने ओठ भींच लिए, वो आंखे फाड़ फाड़ कर बस रोहित के लंड को ही देखे जा रही थ, उसकी नज़रे ही नहीं हट रही थी रोहित के लंड से, बार बार उसके दिमाग में रोहित और प्रियम के लंड की तस्वीरे एक साथ आ जाती और वो दोनों की तुलना करने लगती | प्रियम का लंड चिकना छोटा और पतला था इसलिए उसने आसानी से पूरा का पूरा लंड मुहँ में निगल लिया था लेकिन रोहित का लंड तो बहुत बड़ा है और मोटा भी ये तो मेरा मुहँ और गला दोनों फाड़ डालेगा, अगर इसको मैंने मुहँ में लेने की कोशिश की तो पक्का है मेरा दम घुट जायेगा और मै मर जाउंगी | वो इतना बड़ा लंड अपने जीवन में कभी देखेगी ऐसा उसने सपने में भी नहीं सोचा था | कोई औरत, कोई भी औरत इतने बड़े लंड को अपनी चूत के अन्दर कैसे ले सकती है, शायद इसलिए रोहित की बीबी इसको छोड़कर चली गयी, मैंने कई बार रोहित से तलाक की असली वजह पूछनी चाही लेकिन हर बार वो टाल देता था | जो औरत इतने मोटे लंड से चुदेगी वो दो दिन तो बिस्तर से न उठेगी, इसलिए शायद कोई भी लड़की रोहित की महीने दो महीने से ज्यादा फ्रेंड नहीं रहती | जो एक बार इतने बड़े लंड के दर्शन कर लेगी, चुदवाना तो दूर रोहित के आस पास भी नहीं फटकेगी | रोहित के मोटे लम्बे मुसल जैसे लंड की दहशत के बावजूद रीमा के दिमाग के कोने में एक अनजानी आकर्षण भरी चाह उपज रही थी |
रोहित ने बाथरूम में बने रिलैक्सिंग बेड पर रीमा को लेटने का इशारा कर दिया | रीमा अपनी पीठ के बल बेड पर लेट गयी | इस एंगल से रोहित का लंड और ज्यादा हाहाकारी लग रहा था | रीमा ने एक लम्बी आह भरी और वासना भरी आँखों से रोहित को देखने लगी | रोहित के लंड ने रीमा के मन में दहशत भर दी थी, लेकिन उसे पता था अब बहुत देर हो चुकी है, अब वो इतना आगे आ चुके है है कि पीछे पीछे नहीं लौट सकती, न ही वो रोहित को रोक पायेगी | अगर वो रोहित को रोकना भी चाहे तो वो मानेगा नहीं, और मानने का सवाल भी नहीं उठता, इतनी खूबसूरत नंगी औरत का एक एक रोम देखने के बाद कौन पीछे हटना चाहेगा, कौन रस टपकाते गुलाबी ओठो का रस नहीं पीना चाहेगा, कौन इतनी कोमल, दमकते जिस्म को बिना भोगे छोड़ देगा , कौन सुडौल तने हुए स्तनों को नहीं मसलना चाहेगा, कौन गोरी गुदाज मांसल जांघो पर अपनी जांघे नहीं रगड़ना नहीं चाहेगा, कौन मक्खन जैसी चिकनी नरम गुलाबी चूत को बिना चोदे छोड़ देगा | रोहित को रोकना के बारे में सोचना तो बहाना था, असल में वो खुद को ही नहीं रोक पा रही थी | उसे ये करना ही होगा, हर हाल में करना होगा, अगर इससे उसके शरीर को नुकसान पहुँचता है तो वो भी सही | उसे रोहित की हर धड़कन के साथ कांपते मोटे तगड़े लंड को अपने अन्दर गहराई तक लेना ही होगा, यही लंड सालो से हवस की दावानल में जल रहे शरीर की भूख मिटा सकता है, यही वो लंड है जो उसकी चूत में उमड़ रहे वासना की आग को ख़तम कर रिमझिम फुहारे बरसा सकता है | सालो से लंड की प्यासी चूत को चीर कर, फाड़कर चूत के दूसरे छोर तक जाना होगा, जितना ज्यादा से ज्यादा मेरी चूत की गहराई तक लंड जायेगा मै ले जाउंगी | चाहे जितना दर्द हो, चाहे चूत फट जाये, उसकी दीवारों चटक जाये, उनसे खून बहने लगे फिर भी ये मोटा सा भयानक लंड मेरी चूत की अंतिम गहराई तक जायेगा | जब तक मेरे शरीर में दम रहेगा तब तक इससे चुदवाती रहूंगी | मुझे अपनी चूत की वर्षो की प्यास मिटानी है, मुझे अपनी चूत की दीवारों में उमड़ रही चुदास की आग को बुझाना है, जैसे सावन में बार बार बरसते बादल धरती की प्यास बुझाते है ऐसे ही ये मोटा लम्बा रोहित का लंड बार बार मेरी चूत में जाकर मुझे चोदेगा और मै बार बार झड़ झड़ कर चूत के अन्दर लगी आग को बुझाऊंगी, और अपनी तृप्ति हासिल करूगी, असली तृप्ति भरपूर तृप्ति, परम सुख परम संतुष्टि, ऐसी संतुष्टि जिसको मेरे नंगे जिस्म का एक एक रोम महसूस करे |
रोहित अपने लड़ को हाथ मसल रहा था उससे मनमाने तरीके से खेल रहा था और रीमा का चुनौती देने वाले अंदाज (शायद वो जताना चाहता था क्या ले पावोगी इतना मोटा लम्बा , फट जाएगी चूत तुमारी, चीथड़े उड़ जायेगें तुमारी चूत की गुलाबी गीली दीवारों के) में मखौल उड़ा रहा था और रीमा चुपचाप छत की तरफ मुहँ करके लेटी थी, उसने रोहित की हरकतों पर गौर ही नहीं किया, वो कामवासना की पीड़ा में अपनी ही उधेड़बुन में खोई हुई थी | वो अब अपनी सालो से उसके मन के कोने में दबी हवस और चुदाई की लालसा को छिपाना नहीं चाहती थी | अब वो खुलकर चुदना चाहती थी और उसकी चूत भी उसके वासना में जलते जिस्म की आग बुझाने को तैयार थी | रोहित को देखकर रीमा को प्रियम के लंड चूसने के सीन याद आने लगते, नूतन के बड़े बड़े स्तन और कलुये राजू का वो जोर जोर से नूतन का स्तन मसलना और चूची मुहँ में लेकर चुसना | वो अपनी हर सेक्स फंताशी को पूरा करना चाहती थी, सालो से दबी उसकी वासना और हवस की तमन्नाये अब उफान मार मार कर बाहर आने लगी थी, अब वो और अपनी वासना को दबाना नहीं चाहती थी, जो होगा देखा जायेगा, प्रियम का लंड चूसने के बाद उसकी इतनी हिम्मत हो गयी थी कि अब लोकलाज को किनारे रख, समाज के खोखले ढकोसलो को दरकिनार कर वो अपने जिस्म की प्यास बुझाने के लिए तैयार थी , अब रोहित के लंड से वर्षो से दबाती आई अपनी वासना को जी भर के मिटाएगी |

रोहित भी रीमा के पास बेड पर आ गया था, रीमा ने कुछ तो डर के मारे और कुछ आगे होने वाले का अनुमान लगाने के लिए अपनी आंखे बंद कर ली | जैसे ही रोहित का सख्त हाथ उसकी कमर के नीचे से वासना से दहकती उसकी जांघो के बीच में त्रिकोण चूत घाटी के भूतपूर्व काले बालो के जंगली इलाके (जो अभी पूरी तरह से साफ़ सुथरा चिकना मैदान था ) पर से फिसलता हुआ नीचे बढ़ा, रीमा ने पैर फैलाकर खुद ही पूरी तरह से हथियार डाल दिए | रोहित के सामने अपने जिस्म और मन दोनों का समर्पण कर दिया, अब उसके अन्दर किसी बात का प्रतिरोध करने की शक्ति ख़त्म हो गयी थी | रोहित का हाथ जांघो के बीच वर्जित इलाके में पंहुच गया, जहाँ आज से पहले बस उसके स्वर्गीय पति की उंगलिया गयी थी | उसने एक उंगली से रीमा के खून के बहाव के कारन रेड बेरी की तरह लाल होकर कर फूल गए चूत के दाने या चूतलंड को छुआ, तो रीमा के चुतड अचानक से झटके में ऊपर को उठ गए, ऐसा लगा जैसे उसे बिजली का करंट लगा हो | रोहित ने रेड बेरी की तरह लाल चूत दाने या चूतलंड पर उंगली का दबाव बढ़ा दिया और पांच सात बार तेजी से रगड़ दिया |
रीमा के मुहँ से कराह निकल गयी-ओह्ह ओह्ह्ह्हह यस |
उसके बाद रोहित की उंगलियाँ रीमा की बाल रहित चिकनी चूत के पतले पतले ओठो की तरफ बढ़ गयी और उन्हें सहलाने लगी, उनसे छेड़खानी करने लगा | पहले से ही सेंसिटिव चूत के ओठो को रगड़ना रीमा के बर्दाश्त से बाहर हो गया |

रीमा की नरम, गोरी, चिकनी और वासना की आग में जलती गुलाबी चूत को ऊपर से सहलाते रोहित ने ऐसा कभी भी एक्सपीरियंस नहीं किया था | उसने रीमा की गुलाबी गीली हो चुकी चूत को बमुश्किल अभी हाथ ही लगाया है और रीमा के होश फाख्ता हो गए है, उसका खुद पर से काबू ख़तम हो गया है | रोहित ने रीमा की चूत के ओठो को धीरे से इधर उधर किया और अपनी मध्य उंगली को उसकी बेहद कसी गीली चूत में डालने लगा, चूत की दीवारे एक दूसरे से सटी हुई थी और चूत के छेद को इस कदर कस रखा था की हवा को भी जगह बनानी पड़े | उसकी उंगली को चूत की कसी दीवारों के जबदस्त विरोध का समाना करना पड़ रहा था | रोहित ने उंगली पर और जोर डाला, नाख़ून तक उसकी उंगली चूत की गुलाबी, मलमली, गीली दीवारों को चीरती हुई अन्दर घुस गयी | रीमा के पुरे शरीर में कंपकपी दौड़ गयी, उसका पूरा शरीर उत्तेजना से गरम होने लगा | रोहित ने और दबाव बढाया, उंगली रीमा की चूत की दीवारों का विरोध चीरती हुई अन्दर घुसती चली गयी, रोहित ने थोडा थोड़ा करके पूरी उंगली रीमा के चूत में पेल दी | चूत की दीवारे अभी भी हार मानने को तैयार नहीं थी, वो बार बार उंगली को बाहर की तरफ ठेलने की कोशिश करती | आखिरकार चूत की दीवारों के बीच रोहित की उंगली ने अपने लिए जगह बना ही ली | रीमा की चूत की नरम मखमली दीवारों जो चूत के रस से सराबोर हो चुकी थी, रोहित की उंगली को कसकर चारो ओर जकड लिया | रोहित को रीमा की चूत की कसावट का अंदाजा हो गया था | रीमा की चूत बहुत टाइट थी | रीमा की मखमली चूत की दीवारों की सलवटे रोहित अपनी उंगली पर महसूस कर रहा था | रोहित ने झटके से उंगली बाहर खींची और फिर झटके से अन्दर डाल दी | रीमा का शरीर पूरी तरह से काम वासना की उत्तेजना से अकड़ने लगा था , उसके मुहँ से निकलने वाली आहे कराहे और तेज हो गयी थी | वह रोहित को अपने ऊपर खीचने की कोशिश करने लगी | रोहित अब तेजी से उंगली को रीमा के चूत के छेद में अन्दर बाहर करके रीमा की गरम गीली चूत को उंगली से चोद रह था, और अपने नीचे लेटी खूबसूरत रीमा को एकटक देखता जा रहा था | रोहित ने अपनी उंगली से चूत का चोदना रोक दिया और फिर अपने पैर फंसा कर रीमा के पैरो को और फैला दिया, रीमा की चूत पर एक भी बाल नहीं था इसलिए अब कोई भी दूर से रीमा की चिकनी गोरी गुलाबी चूत के खुले ओठो और गुलाबी छेद को देख सकता था | जिसे चूत की दीवारे कसकर बंद किये हुई थी | रोहित पूरी तरह से रीमा के ऊपर आ गया उसने अपने पैरो को हिलाकर थोडा एडजस्ट किया | अब उसका खून से लबालब भरा मोटा लंड, जिसकी नसे दूर से ही देख रही थी, रीमा की जांघो के बीच झूल रहा था | हर धड़कन के साथ कांपते मोटे लबे लंड को जिसका सुपाडा खून की वजह से फूल कर टमाटर जैसा लाल हो गया था को देखकर रीमा ने अपनी आंखेबंद कर ली | ये मोटा सा बड़ा सा फूला हुआ लंड अभी उसकी चूत की दीवारों को चीर कर रख देगा, फाड़ कर रख देगा, इसी ख्याल से रीमा का रोम रोम खड़ा हो गया | रोहित ने रीमा के ओठो को कसकर चूमा और फिर खुद की कमर को थोडा नीचे झुकाते हुए, हाथ से चूत के दोनों ओठो को अलग अलग किया. और फिर लंड को चूत के लाल फूले हुए चूत दाने या चूतलंड पर रगड़ना शुरू कर दिया | बस कुछ ही पलो में .........
रीमाके मुहँ से एक लम्बी कराह निकल गयी ओह्ह्ह्हह ओह्ह्ह्हह ओह्ह्ह्हह |
रीमा उत्तेजना के इस भंवर को संभाल नहीं पाई, और उसका शरीर कांपने लगा, उसके नितम्ब अपने आप उठने गिरने लगे | शायद वो झड़ने लगी थी | कुछ देर तक वो इसी तरह हिलती रही और फिर शांत हो गयी | हालाँकि वो रोहित का साथ न दे पाने के लिए शर्मिंदा थी लेकिन उसकी उत्तेजना पर उसका कोई नियंत्रण नहीं था |
रोहित समझदार था उसे इन सब का अनुभव था इसलिए रोहित ने रीमा के सुडौल गोरे स्तनों को मसलना तेज कर दिया, रीमा के गले और कान के पीछे तेजी से चूमने लगा, चाटने लगा, बारी बारी से उसके मांसल सुडौल गोरे गोरे स्तनों को मसलते हुए बीच बीच उसके फूले हुए लाल चूत दाने को रगड़ने लगता | दूसरे हाथ से उसके नरम नरम बड़े बड़े मांसल चुताड़ो मसलने लगता, रीमा की कमर उठाकर, उसकी जांघे और चूत त्रिकोण पर खुद का फडकता हुआ मोटा लम्बा लंड रगड़ देता | जैसे ही रीमा का जिस्म फिर से गरम होना शुरू हुआ, रोहित ने अपने मोटे लंड के फूले हुए सुपाडे से रीमा का फूला चूत दाना जोरे से रगड़ दिया | मोटे मुसल जैसे लंड के फूले हुए सुपाडे से लालिमा लिए चूतदाना रगड़ने से रीमा बहुत जल्दी फिर से पूरी तरह से उत्तेजित हो गयी | रीमा की आहे फिर निकालनी शुरू हो गयी, कुछ ही पलो में रीमा फिर से वासना के भंवर में मस्त होकर कराहने लगी, उसकी चूत की दीवारों से फिर पानी झरने लगा |

Reply With Quote
Have you seen the announcement yet?
  #40  
Old 1 Week Ago
brego4's Avatar
brego4 brego4 is offline
http://pzy.be/
Visit my website
 
Join Date: 1st May 2008
Posts: 16,475
Rep Power: 55 Points: 22900
brego4 is one with the universebrego4 is one with the universebrego4 is one with the universebrego4 is one with the universebrego4 is one with the universebrego4 is one with the universebrego4 is one with the universe
super hot updates
______________________________
And Miles to go before i Sleep

Reply With Quote
Have you seen the announcement yet?
Reply Free Video Chat with Indian Girls


Thread Tools Search this Thread
Search this Thread:

Advanced Search

Posting Rules
You may not post new threads
You may not post replies
You may not post attachments
You may not edit your posts

vB code is On
Smilies are On
[IMG] code is On
HTML code is Off
Forum Jump


All times are GMT +5.5. The time now is 07:30 AM.
Page generated in 0.12505 seconds